शनिवार दोपहर करीब 2:30 बजे हुए हादसे में कार में सवार युवती की मौत हो गई, जबकि उसकी मां, दादी और छोटा भाई गंभीर रूप से घायल हो गए।  हादसा इतना खतरनाक था कि सड़क के किनारे लगी लोहे की आउटर ग्रिल कार में बैठी युवती के पेट को चीरते हुए 10 फीट से अधिक पीछे तक निकल गई। हादसे में मृतका जोया (22) के पिता राजेंद्र बावरा (43) बेटा भजन लाल बावरा के भी मामूली चोटें आई।

ग्रिल युवती के शरीर के पार निकल गई

राजेंद्र बावरा का परिवार रक्षाबंधन पर्व मनाने हनुमानगढ़ जा रहा था। हनुमानगढ़ में राजेंद्र बावरा का ससुराल है। जबकि राजेंद्र बावरा मूल रूप से गोलूवाला का निवासी है। प्रत्यक्ष दर्शियों के अनुसार कार के सामने अचानक कुत्ता आ गया। इससे चालक ने कार पर नियंत्रण खो दिया। कार में पांच लोग सवार थे।

मृतका जोया इन दिनों आरएएस की तैयारी कर रही थी। हादसे में जोया की मौके पर ही मौत हो गई। हादसा इतना दर्दनाक था कि आउटर ग्रिल युवती के शरीर के पार निकल गई। ऐसे में शव काफी मुश्किल से निकाला गया। जाेया की मां नसीब (39) पत्नी राजेंद्र बावरा, उसके भाई रेहान(11) और दादी विद्या देवी का सूरतगढ़ के निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया।

ग्रिल मां की टांग को चीरते हुए बेटी के पेट को चीरते 10 फिट पीछे तक चली गई

आउटर ग्रिल चालक के पास अगली सीट पर बैठी नसीब की टांग को घुटने से नीचे से चीर कर दो भाग करती हुई, पीछे बैठी उनकी बेटी जोया की जांघ और पेट को पार करते हुए कार में से 10 फुट से अधिक पीछे तक चली गई। रेहान व विद्या देवी को गंभीर चोटें आई। सूचना मिलने पर श्रीविजयनगर पुलिस तुरंत मौके पर पंहुची। एंबुलेंस 108 की मदद से घायलों को स्थानीय सेठ केसरीचंद राजकीय अस्पताल श्रीविजयनगर लाया गया।

हालात गंभीर देखते हुए नसीब, रेहान और विद्या देवी को सूरतगढ़ रैफर कर दिया। कार चालक राजेंद्र बावरिया को उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। मृतका का शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया। हादसे में घायल नसीब श्रीविजयनगर पुलिस थाने के कांस्टेबल निसार खान की बहन है और मृतका जोया भानजी थी।

नसीब बावरा रावलामंडी में प्राइवेट स्कूल चलाती हैं। राजेंद्र बावरा राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल 7 केएनडी में टीचर हैं। हादसे की सूचना पर रावला कस्बे और आसपास की ढाणियों में शोक छा गया। राजेंद्र बावरा के मित्रगण और रिश्तेदार व ग्रामीण वाहनों पर श्रीविजयनगर और सूरतगढ़ अस्पताल पहुंचे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here