भाई-बहन के बीच पवित्र प्रेम की पराकाष्ठा कहें या नादानी-गुस्से में उठाया गया भयानक कदम, एक विवाहिता ने भाई को रखी बांधने मायके नहीं जाने देने पर फांसी के फंदे से झूल गई। मरने से पहले गोद की छह माह की दुधमुंही बच्ची व अपने परिवार का ख्याल नहीं किया। परिजनों ने मायके वालों को इस हादसे की सूचना दी। बहन की मौत की मनहूस खबर सुनकर भागा आया भाई ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया है। महिला के भाई ने हत्या बताते हुए महिला के पति समेत सात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया है।

महिला व उसके ससुराल वाले अपनी जिद पर अड़े थे

मृतक महिला का नाम देवी है। रूस्तमपुर तीनपैरिया गांव निवासी दयानंद राय के बेटे धर्मेंद्र से शादी हुई थी। पहली संतान के रूप में छह माह की दुधमुंही बच्ची गोद में है। पिछले कई दिनों से महिला अपने पति व सास-ससुर को रक्षाबंधन पर मायके जाने देने का अनुरोध कर रही थी। उधर ससुराल वाले एक माह पहले घर में जवान बेटे की मौत का हवाला देकर रक्षाबंधन करने जाने से रोक रहे थे। दरअसल दयानंद राय के एक जवान बेटे की मौत एक माह पहले विषैले सांप के डंस लेने से हो गई थी। परिवार के लोग अभी उस हादसे से उबर भी नहीं पाए हैं। सास-ससुर इसी रिवाज की दुहाई दे रहे थे।

 

मायके जाने के सवाल पर दंपती में हुई थी कहा-सुनी

बताया गया कि मृतक महिला का पति धर्मेंद्र दूध बेचने का काम करता है। गांव व इलाके के किसानों से दूध कलेक्ट कर, पटना ले जाकर नियमित ग्राहकों को डिलेवरी देता है। परिजनों का कहना है कि सबके समझाने के बाद भी देवी मायके जाने की जिद पर अड़ी थी। उसकी जिद देखकर धर्मेंद्र ने कह दिया था कि वह खुद उसे लेकर जाएगा। रात में देवी ने धर्मेंद्र से फिर पूछा कि वह सुबह चल रहा है या नहीं? धर्मेंद्र ने हां कह दिया था। सुबह देवी मायके जाने की तैयारी कर रही थी और इधर धर्मेंद्र दूध लेकर पटना चला गया। अपने भाई को रक्षाबंधन पर राखी नहीं बांधने, ससुराल वालों द्वारा मायके नहीं जाने देने की कसक में देवी ने अपना आपा खो दिया। उसने भयानक कदम उठाते हुए गले में फंदा डालकर फांसी लगा ली।

 

भाई ने ससुराल वालों पर हत्या का लगाया आरोप 

सुबह विवाहिता का शव फंदे से लटकता पाया गया। घर में कोहराम मच गया। दूध लेकर निकले धर्मेंद्र को इस हादसे की सूचना दी गई। वह रोता-बिलखता घर पहुंचा। उसने अपने ससुराल को फोन कर इस हादसे की सूचना दी। सूचना मिलते ही विवाहिता का भाई मनोज भागा-भागा बहन के घर आया। उसने रूस्तमपुर पुलिस को इस हादसे की सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया है। बाद में महिला के भाई ने आत्महत्या नहीं साजिश के तहत बहन की हत्या करने का आरोप लगाते हुए पति, देवर, सास-ससुर समेत सात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया है। ओपी अध्यक्ष विष्णुकांत दूबे ने बताया है कि मृतका के भाई की लिखित सूचना पर एफआईआर दर्ज कर पुलिस छानबीन में जुट गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here