नई दिल्ली से हैदराबाद जा रही तेलंगाना एक्सप्रेस में आधी रात को उस वक्त सनसनी फैल गई, जब दो AC बोगी के बीच कपलिंग बफर के ऊपर बोरे में बंद एक लाश मिली। पैसेंजर्स की सूचना पर ट्रेन को ललितपुर स्टेशन पर रोका गया। मौके पर पहुंचे जीआरपी थानाध्यक्ष संजय सिंह ने जब बोरी को नीचे उतरवाकर उसे खुलवाया,

तो उनके होश उड़ गए। उसमें खून से लथपथ एक युवक की लाश मिली। उसका चेहरा बुरी तरह कुचला हुआ था। शव के एक हाथ पर 786 और मोहम्मद सरताज नाम गुदा हुआ था। माना जा रहा है कि हत्यारों ने बेरहमी से उसकी हत्या कर लाश को वहां रख दिया होगा।

जानकारी के मुताबिक, 12724 तेलंगाना एक्सप्रेस सोमवार रात 12 बजकर 13 मिनट पर झांसी स्टेशन से भोपाल के लिए रवाना हो रही थी। इसी दौरान तेलंगाना के लिए पत्नी के साथ एसी कोच बी4 में सफर कर रहे फरीदाबाद निवासी धर्मवीर ने कोच में मौजूद सीटीई एमएच खान से बैग चोरी की शिकायत की।

पैसेंजर ने सीटीई को बताया, झांसी से पहले करारी स्टेशन के पास आउटर पर कुछ बदमाशों ने तीन सोने की अंगूठी और बच्चे के कपड़ों से भरा उनका बैग चुरा लिया। जब वे उनके पीछे भागे, तो बदमाशों ने उन्हें गोली मारने की धमकी दी।

पैसेंजर की शिकायत पर सीटीई ट्रेन में गश्त कर रहे जीआरपी स्टाफ के साथ कोच में बदमाशों को ढूंढने निकल गए।
इसी दौरान एसी कोच बी4 और बी3 को जोड़ने वाले कपलिंग बफर के ऊपर से पैसेंजर धर्मवीर को खून की बूंदें टपकती दिखी। उन्होंने तत्काल सीटीई और जीआरपी को इसकी सूचना दी।

फिर ललितपुर स्टेशन पर रोकी गई ट्रेन

खून के छींटे देख आनन-फानन में सीटीई ने कंट्रोल रूम को इसकी सूचना देने के बाद ललितपुर स्टेशन पर रात एक बजकर 35 मिनट पर ट्रेन रुकवाई।

प्लेटफॉर्म पर पहले से मौजूद जीआरपी कर्मियों ने कोच के बीच कपलिंग बफर के ऊपर सफेद रंग की एक बोरी देखी, जिसमें एक जगह खून लगा हुआ था। जब बोरी खोली गई, तो उसमें से खून से सने एक युवक की लाश निकली। जिसका चेहरा बुरी तरह से कुचला हुआ था।

ललितपुर जीआरपी थानाध्यक्ष संजय सिंह ने बताया, सीटीआई की सूचना के आधार पर मामला दर्ज किया जा रहा है। युवक की शिनाख्त के प्रयास किए जा रहा हैं। स्टेशन पर करीब एक घंटे तक ट्रेन खड़ी रही। तब तक पैसेंजर्स दहशत में थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here