Connect with us

India

घिनौनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे जमाती, कानपुर के अस्पतालों में सीढ़ियों की रेलिंग पर लगाई थूक

Published

on

एक तरफ जहां पूरा देश एक साथ मिलकर कोरोना के संकट से लड़ रहा हैं तो वहीं देश के अंदर कुछ ऐसे लोग भी मौजूद है जो इस लड़ाई को और मुश्किल बनाने का काम कर रहे हैं। ये हैं दिल्ली में मरकज की जमात में शामिल होने वाले जमाती जिनकी घिनौनी हरकतें आए दिन बढ़ती जा रही है। कुछ दिनों पहले गाजियाबाद के एक अस्पताल में इन जमातियों ने डॉक्टरों और नर्सों के साथ अभद्रता की थी और इनकी ये हरकत आगे बढ़ती ही जा रही है। कानपुर के एक अस्पताल में इन जमातियों की एक और घिनौनी हरकत सामने आई है।

हाथ में थूक लगाकर सीढ़ियों पर कर रहे गंदगी

कानपुर के हैलट अस्पताल में दिल्ली के मरकज से आए जमातियों का डॉक्टर इलाज कर रहे हैं, लेकिन वहां पर उनकी अभद्रता और ज्यादा बढ़ गई है। कानपुर के जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज की प्रधानाचार्या ने एक न्यूज चैनल को बताया की जमातियों ने किस तरह से डॉक्टरों को परेशान कर रखा हैं। उन्होंने बताया की जमाती हर वक्त अच्छे खाने की मांग कर रहे हैं। उन्हें खाने में पनीर की सब्जी दी जा रही है, लेकिन फिर भी उनकी मांगे कम नहीं हो रही।

सिर्फ इतना ही नहीं वो लोग अपने हाथ में थूक लगाकर अस्पताल की रेलिंग में लगा दे रहे हैं। इससे सिर्फ मरीजों को ही नहीं पूरे अस्पताल स्टॉफ की जान को खतरा बढ़ गया है। डॉक्टर ने बताया की पुलिस भी इन जमातियों के पास काफी सुरक्षा के साथ जा रही है। अगर उनके पास जाना हो तो पहले पीपीई किट पहनाई जा रही है क्योंकि कोरोना वार्ड को भी इन जमातीयों ने थूक थूक कर संक्रमित कर दिया है। उनकी घिनौनी हरकतों के बाद भी अस्पताल प्रशासन इनको ठीक करने में लगा हुआ है।

कोरोना संक्रमित जमातीयों की संख्या पहुंची 300 के पार

गौरतलब है की दिल्ली स्थित निजामुद्दीन मरकज के तबलीगी जमात में शामिल हुए लोगों के कारण संक्रमण की स्थिति काफी खराब हो गई। इस जमात में देशभर के करीब 9000 लोगों की पहचान कर उन्हें क्वारंटाइन किया जा चुका है। इनमें से अभी कोरोना संक्रमित जमातीयों की संख्या 320 हो चुकी है और आंकड़ा धीरे धीरे बढ़ता ही जा रहा है। तबलीगी जमात की अपराधिक लापरवाही के चलते देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में तेजी से इजाफा हो गया है।

बता दें की कोरोना को रोकने के लिए देशभर में सोशल डिस्टेंसिंग शुरु की गई है यानि की एक दूसरे से करीब 1 मीटर की दूरी पर खड़े होना। इसका देशभर में कड़े तरीके से पालन भी किया जा रहा है, लेकिन लॉकडाउन की अपील के बाद भी तबलीगी जमात के मरकज में एक साथ इतनी भारी संख्या में लोगों की मौजूदगी ने भारत की स्थिति को और भी मुश्किल बना दिया है।

दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात का केंद्र होने के कारण यहां सिर्फ देश भर से ही नहीं बल्कि दुनियाभर के लोग इकट्ठा होते हैं। इसी के चलते जमातियों का एक शहर से दूसरे शहर सफर करने के कारण कोरोना का खतरा और भी ज्यादा बढ़ गया है। सरकार और अस्पताल प्रशासन लगातार कोशिश में है की इस समस्या से आसानी से निपटा जा सके, लेकिन जमातियों के उपद्रव ने इसे और मुश्किल बना दिया है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *