Connect with us

India

Bhabhi को नहीं थी औलाद, Devar ने कहा मैं दूंगा और फिर Bhabhi के साथ खेला गंदा खेल

Published

on

भाभी को नहीं थी औलाद, devar ने कहा मैं दूंगा और फिर भाभी के साथ खेला गंदा खेल, यहां एक युवक ने अपनी भाभी के साथ दु ष्कर्म किया। यही नहीं In-laws ने 10 लाख रुपये की मांग के चलते उसे मा रपीट कर घर से निकाल दिया। घटना उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले की है। देवबंद के एक गांव में devar ने भाभी के साथ दुराचार किया। विवाहिता का आरोप है कि शादी के साढ़े तीन वर्ष तक कोई बच्चा नहीं हुआ तो devar ने जबरन उसे हवस का शिकार बना लिया। इतना ही नहीं In-laws ने 10 लाख रुपये की मांग के चलते उसे मा रपीट कर घर से भी निकाल दिया। ऐसी हैवानियत सुन कर ही रूह कांप जाए।

आरोप लगाया कि shaadi के साढ़े तीन वर्ष बाद भी उसके कोई औलाद नहीं हुई तो देवर उसके कमरे में घुस गया तथा जबरन उसे हवस का शिकार बना लिया। जब उसने In-laws से इसकी शिकायत की तो उन्होंने देवर का पक्ष लिया तथा मा रपीट कर घर से निकाल दिया। जिसके बाद से वह मायके में रह रही है। इस मामले में ssp ने कोतवाली पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने के आदेश दिए हैं।

एक गांव निवासी महिला ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के यहां दी तहरीर में बताया कि वर्ष 2014 में उसका विवाह लक्सर के गांव ढाढकी में एक व्यक्ति के साथ हुआ था। पिता ने shaadi में करीब 35 लाख रुपये खर्च किए थे। लेकिन ससुराल वाले इससे खुश नहीं थे और वह उसे कम दहेज लाने को लेकर परेशान करने लगे तथा उस पर Maternal home से 10 लाख रुपये लेकर आने का दबाव बनाने लगे।

जिसके चलते उसने मायके से दो लाख रुपये भी लाकर दिए। लेकिन in laws इससे संतुष्ट नहीं हुए और इसी के चलते उन्होंने मा रपीट करते हुए उसे aag लगाकर जलाने का प्रयास भी किया। police इस मामले की जांच कर रही है। देखना होगा कि आखिर police की जांच किस नतीजे पर पहुंचती है।

Continue in browser
To install tap Add to Home Screen
Add to Home Screen
Magzian
Get our web app. It won't take up space on your phone.
Install
See this post in...
Magzian
Chrome
Add Magzian to Home Screen
Close

For an optimized experience on mobile, add Magzian shortcut to your mobile device's home screen

1) Press the share button on your browser's menu bar
2) Press 'Add to Home Screen'.
Magzian We would like to show you notifications for the latest news and updates.
Dismiss
Allow Notifications